42121448 303

म्यांमार सेना और बौद्ध अतिवादियों के जुल्मों-सितम के सताए हुए रोहिंग्या मुस्लिमों को जापान ने 30 लाख डॉलर की मदद देने का ऐलान किया है. साथ ही म्यामार से रोहिंग्या मुसलमानों की सुरक्षित और स्वैच्छिक वापसी की गारंटी देने का आग्रह किया.

जापान सरकार ने रोहिंग्या मुसलमानों की घर वापसी कराने के लिए म्यांमार सरकार को 30 लाख डॉलर अनुदान देने की घोषणा की है. विदेश मंत्रालय के अधिकारी शिनोबू यामागुची ने कहा कि हमने म्यांमार और बांग्लादेश के बीच करार को देखते हुए मदद का फैसला किया है. साथ ही जापान की आगे भी सहायता देने की योजना है.

जापान के विदेश मंत्री तारो कोनो ने म्यांमार की नेता आंग सान सू की से मीडिया और मानवतावादी संगठनों को प्रभावित क्षेत्रों में जाने की इजाजत, वापसी करने वाले शरणार्थियों का पुर्नवास और संयुक्त राष्ट्र के पूर्व महासचिव कोफी अन्नान की सिफारिशों को लागू करने की अनुमति देने को कहा है.

ध्यान रहे म्यांमार और बांग्लादेश ने 23 नवंबर को रोहिंग्या शरणार्थियों के प्रत्यावर्तन को लेकर करार किया था. मार ने 23 जनवरी से इसकी प्रक्रिया शुरू करने की बात कही थी. लेकिन अब तक कोई प्रत्यावर्तन नहीं हुआ है.

सू की ने कोनो  के साथ संयुक्त समाचार सम्मेलन में कहा कि हम दीर्घकालीन अवधि और अल्पकालिक अवधि दोनों के लिए जापान के सहयोग के लिए आभारी हैं.


Urdu Matrimony - मुस्लिम परिवार में विवाह के लिए अच्छे खानदानी रिश्तें ढूंढे - फ्री रजिस्टर करें



Loading...
कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें