imran khan 2018082406555250 650x

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने कहा कि पाकिस्तान में मदरसों की भूमिका की अनदेखी करना और उन्हें आतंकवाद से जोड़कर देखना अनुचित है। इसके साथ ही इमरान ने कहा कि देश में शिक्षा व्यवस्था में सुधार उनकी सरकार की शीर्ष प्राथमिकता है।

देश के शीर्ष उलेमा के एक प्रतिनिधिमंडल से मुलाकात के दौरान  उन्होंने कहा कि सरकार वर्ग आधारित शिक्षा व्यवस्था को खत्म करना और पाठ्यक्रम में एकरूपता लाना चाहती है। इनमें मदरसे भी शामिल हैं। खान ने कहा कि समाज के विकास में मदरसों की भूमिका की अनदेखी नहीं की जा सकती और सभी धार्मिक संस्थानों को आतंकवाद से जोड़ना अनुचित होगा।

इमरान ने कहा कि खुशहाली हासिल करने के लिए समान शिक्षा व्यवस्था का अहम महत्व है। उन्होंने कहा कि मदरसों के छात्रों का यह हक है कि वह जीवन के सभी क्षेत्रों में भाग लें और मदरसों को मुख्यधारा में लाया जाना आवश्यक है। बता दें कि प्रधानमंत्री कार्यालय ने उलेमा को मदरसा सुधार और अन्य मुद्दों पर विचार के लिए बुलाया था।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पाकिस्तान के पीएम अगले महीने जा सकते हैं चीन 

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान के अगले महीने चीन के आधिकारिक दौरे पर जाने की संभावना है। यह जानकारी पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने दी है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने कहा कि 50 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत से बनने वाला चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारा (सीपीईसी) बेहद महत्वपूर्ण है और इसकी शुरूआत हो गई है।

उन्होंने कहा कि पाकिस्तान चाहता है कि इन परियोजनाओं को जल्द से जल्द पूरा किया जाए। चीन के साथ बातचीत की जा रही है कि जो क्षेत्र नयी सरकार के लिए महत्वपूर्ण हैं उन पर किस तरह ध्यान केंद्रित किया जा सकता है।

Loading...