आतंकवादी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) से जुड़ने वाले नागरिकों की कजाकिस्तान ने नागरिकता ही छिन रहा हैं. कजाकिस्तान के राष्ट्रपति नूरसुल्तान नजरबायेव ने कहा है कि यह एक अनिवार्य उपाय है. ऐसे उपाय लोगों को आतंकवादियों संगठनों में शामिल न होने देने के लिए जरूरी है.

उन्होंने कहा, हमने आईएस के चंगुल से बच कर लौटने वाले लोगों के साथ काम करने की कोशिश की लेकिन कुछ खास सफलता नहीं मिली. इसलिए हमने उनके लिए घर वापसी का रास्ता बंद करने का फैसला किया है.

Loading...

राष्ट्रपति ने कहा कि कजाकिस्तान से 500 से 600 लोग और पूर्व सोवियत संघ के क्षेत्रों से लगभग 5,000 लोग आतंकवादी संगठन में शामिल हुए हैं.

गौरतलब रहें कि कजाकिस्तान के कानून के अनुसार, नागरिकता से वंचित व्यक्ति को भी कजाकिस्तानी क्षेत्र में रहने का अधिकार होता है.

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें