ईरान ने इस्लामी देशों को चेताते हुए कहा कि इस्राईल के साथ कोई भी रिश्ता जोड़ना या रिश्ता रखना दुनिया भर के मुसलमानों के साथ एक खुली गद्दारी हैं.

ईरान की संसद में राष्ट्रीय सुरक्षा और विदेश नीति आयोग के प्रमुख अलाउद्दीन बुरुजर्दी ने रविवार को लेबनान के अलमयादीन टीवी चैनल से बातचीत में कहा कि इस्राईल और उनके घटकों की ओर से दुष्टतापूर्ण नीतियां, अब इस्लामी और क्षेत्रीय देशों के साथ संबंध सामान्य बनाने के प्रयास के रूप में नज़र आ रही हैं.

उन्होंने कहा कि क्षेत्र के कुछ अरब देशों की ओर से इस्राईल शासन के साथ संबंध सामान्य बनाने का प्रयास एेसी दशा में किया जा रहा है कि जब लाखों फिलिस्तीनी आज भी बेघर हैं और सुरक्षा परिषद के प्रस्तावों के बावजूद, पीड़ित फिलिस्तीनियों के अधिकारों का हनन जारी रखे हुए है.

उन्होंने आगे कहा कि ईरान की विदेश नीति का सब से महत्वपूर्ण मामला, फिलिस्तीन है और फिलिस्तीन सम्मेलन में विभिन्न देशों विशेषकर इस्लामी देशों के संसद सभापति भाग लेंगे. फिलिस्तीन जनान्दोलन के समर्थन में छठां अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन 21और 22 फरवरी को विश्व के 80 देशों के 700 से अधिक प्रतिनिधियों की शिरकत से तेहरान में आयोजित हो रहा है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें