फिलिस्तीन के मामले में संयुक्त राष्ट्र संघ की और से इस्राईल को  इतिहास का सब से दुष्ट अतिक्रमणकारी करार दिया गया हैं.

संयुक्त राष्ट्र संघ के विशेष दूत माइकल लिंक ने कहा है कि लगभग 6 दशक पहले इस्राईल द्वारा फिलिस्तीनी भूमियों पर अवैध क़ब्ज़ा विश्व इतिहास में अतिग्रहण कार सब से बुरा रूप है. लिंक ने कहा कि इस्राईल ने फिलिस्तीन पर अवैध क़ब्ज़े के आरंभ से ही फिलिस्तीनियों के अधिकारों का हनन किया और नियमों को पैरों तले रौंदा.

मानवाधिकार परिषद में संयुक्त राष्ट्र संघ की ओर से निरीक्षक के पद पर कार्य कर रहे लिंक ने कहा कि इस्राईल फिलिस्तीनियों और मानवाधिकार कार्यकर्ताओं का दमन करता है. लिंक ने ये तथ्य सोमवार को इस्राईल के विरुद्ध मानवाधिकार परिषद में पेश की गई अपनी रिपोर्ट में कही हैं.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मानवाधिकार परिषद, एक अंतरराष्ट्रीय संस्था है जिसमें विश्व के 47 देश सदस्य है और यह परिषद विश्व में मानवाधिकार की स्थिति पर नज़र रखती है.

Loading...