Tuesday, June 22, 2021

 

 

 

नेतन्याहू को सत्ता से बाहर करने के लिए बेनेट और लैपिड ने किया गठबंधन, इस्लामवादी पार्टी भी हुई शामिल

- Advertisement -
- Advertisement -

भ्रष्टाचार के आरोपो को सामना कर रहे प्रधान मंत्री बेंजामिन नेतन्याहू को बड़ा झटका लगा है। उनके विरोधियों ने घोषणा की है कि वे सत्ता में आने के लिए एक नए गठबंधन बनाने के लिए एक समझौते पर पहुंच गए हैं, जो लंबे समय तक नेतन्याहू को सत्ता से बाहर रखने का मार्ग प्रशस्त करता है।

विपक्षी नेता यायर लापिड और उनके मुख्य गठबंधन सहयोगी, नफ्ताली बेनेट ने आधी रात को ये घोषणा की। लैपिड ने ट्विटर पर एक बयान में कहा कि उन्होंने देश के राष्ट्रपति को समझौते की जानकारी दे दी है। उन्होने लिखा, “यह सरकार इस्राएल के सभी नागरिकों के लिए काम करेगी, जिन्होंने इसे वोट दिया और जिन्होंने इसे नहीं दिया। यह इजरायली समाज को एकजुट करने के लिए सब कुछ करेगा।”

समझौते के तहत, लैपिड और बेनेट प्रधानमंत्री के पद पर बारी-बारी से रहेंगे। बेनेट पहले दो साल जबकि लैपिड को अंतिम दो साल सेवा देनी होगी। ऐतिहासिक समझौते में एक छोटी इस्लामवादी पार्टी, संयुक्त अरब भी शामिल है, जो इसे एक शासी गठबंधन का हिस्सा बनने वाली पहली अरब पार्टी बना देगी।

अगले सप्ताह की शुरुआत में होने वाले मतदान में समझौते को अभी भी केसेट या संसद द्वारा अनुमोदित करने की आवश्यकता है। अगर ऐसा होता है, तो लैपिड और उनके विविध साझेदार नेतन्याहू के 12 साल के शासन की रिकॉर्ड-को समाप्त कर देंगे।

भ्रष्टाचार के आरोपों से जूझते हुए पद पर बने रहने के लिए बेताब नेतन्याहू से आने वाले दिनों में नए गठबंधन को सत्ता में आने से रोकने के लिए हर संभव कोशिश करने की उम्मीद है। अगर वह विफल रहते है, तो उसे विपक्ष में धकेल दिया जाएगा।

नेतन्याहू ने अपने लंबे शासन का विस्तार करने और प्रधान मंत्री कार्यालय से भ्रष्टाचार के आरोपों से लड़ने की उम्मीद की थी। वह हाल के वर्षों में एक गहरी ध्रुवीकरण शक्ति के रूप में उभरा है, जिसने इजरायल को अनिश्चित चुनावों की एक श्रृंखला के माध्यम से राजनीतिक अधर में छोड़ दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles