रायटर की रिपोर्ट के अनुसार, इजराइली बलों ने शुक्रवार को गाजा-इजराइल सीमा पर विरोध प्रदर्शन के दौरान 14 वर्षीय लड़के सहित दो फिलिस्तीनी किशोरों की गोली मारकर ह’त्या कर दी।

फिलीस्तीनी स्वास्थ्य अधिकारियों ने कहा कि मृतकों का नाम खालिद अल-रबाई, 14, और अली अल-अश्कर, 17 है। इसके अलावा सत्तर प्रदर्शनकारियों को जख्मी कर दिया गया था, जिनमें से 38 आग से जख्मी हुए है।

एक इजरायली सैन्य प्रवक्ता ने कहा कि सीमा पर रखवाली करने वाले सैनिकों को बाड़ के साथ कई बिंदुओं पर 6,000 से अधिक प्रदर्शनकारियों का सामना करना पड़ा।

उन्होंने कहा कि कुछ लोग गाजा लौटने से पहले बाड़ को पार करने में कामयाब रहे, और इजरायली बलों ने दंगा फैलाने पर पलटवार किया। हालांकि प्रवक्ता ने मौतों पर टिप्पणी नहीं की।

प्रदर्शनकारी 18 महीनों से साप्ताहिक प्रदर्शन कर रहे है। जिसे “ग्रेट मार्च ऑफ रिटर्न” करार दिया गया है। जो इज़राइल और मिस्र द्वारा गाजा पर लगाए गए सुरक्षा नाकाबंदी को समाप्त करने का आह्वान करता है।

साथ ही फिलिस्तीनियों को भूमि पर लौटने के अधिकार का दावा करता है, जिसके लिए उनके परिवार को 1948 में इजरायल की स्थापना के दौरान भागने के लिए मजबूर किया गया था। इजरायल ने ऐसी किसी भी वापसी को खारिज करते हुए कहा कि इससे यहूदी बहुमत खत्म हो जाएगा।

Loading...
लड़के/लड़कियों के फोटो देखकर पसंद करें फिर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

 

विज्ञापन