source: Voice of the Cape

पिछले हफ्ते इस्राइली सैनिकों द्वारा एक 16 वर्षीय फिलिस्तीनी अहद अल तमीमी को हिरासत में लिया गया था, हिरासत में लिए जाने के बाद तमीमी के वकील ने कोर्ट में तमीमी की रिहाई के लिए अपील की जिसे इस्राइली कोर्ट द्वारा ख़ारिज कर लिया गया है.

लड़की के पिता बस्सेम अल तमीमी ने स्थानीय समाचार पत्र को बताया की “रविवार को वेस्ट बैंक के रामल्लाह में स्थित ऑफ़र कोर्ट में अहद के वकील द्वारा अहद की जमानत पर रिहा होने के लिए किये गए अनुरोध को कोर्ट द्वारा अस्वीकार कर दिया गया है.”

डेली सबाह के अनुसार सोमवार को कोर्ट में अहद, अहद की माँ और कजिन नौर उपस्थित थे, जिन पर इस्राइली सेना के विरोध का सामना करने का आरोप लगा है.

सोमवार को, इसराइल के अभियोजन पक्ष ने कहा की “अहद के इस केस को जांच के लिए 10 दिन और आगे ले जाया जायेगा”.

पिछली मंगलवार, इजरायली सेना ने नबी सालेह के पश्चिमी तट के गांव में रातोंरात छापे के दौरान अहद को हिरासत में लिया था, अहद की मां और चचेरे भाई दोनों ही बाद में गिरफ्तार किए गए थे. इससे पहले 2012 में, इस्तांबुल के बाससक्शीर नगर पालिका ने उन्हें इज़राइली सैनिकों को चुनौती देने के लिए वीरता पुरस्कार से सम्मानित किया, जिसमे सैनिकों ने तमीमी के भाई को गिरफ्तार किया था.

उस समय, तुर्की के प्रधान मंत्री रसेप तय्यिप एर्दोगान ने फिलिस्तीनी लड़की से मुलाकात की थी, एर्दोगान ने उनकी बहादुरी की प्रशंसा की थी. अहाद के पिता, मां और भाइयों को भी बार-बार अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार किया गया था.

6 दिसंबर को, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने यरूशलेम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता दी थी, जिसमे अमरीका-इसराइल के विरोध प्रदर्शन में तमीमी भी शामिल थी.

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें