इजरायल ने संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और बहरीन के साथ राजनयिक संबंध सामान्य बनाने के लिए व्हाइट हाउस में अब्राहम समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं। अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने इसे ‘नए मध्य पूर्व का सवेरा’ कहा है।

इस दौरान डोनाल्ड ट्रंप के अलावा इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू, यूएई के विदेश मंत्री शेख अब्दुल्लाह बिन जैयद अल-नहयान और बहरीन के विदेशी मंत्री अब्दुलातीफ बिन रशीद अल जयानी समझौते के दौरान मौजूद थे।

ट्रंप ने समझौते पर दस्तख़त का एक वीडियो शेयर किया और लिखा, “दशकों के विभाजन और संघर्ष के बाद आज हमने एक नए मिडिल ईस्ट की शुरुआत की है। इसराइल, संयुक्त अरब अमीरात और बहरीन के लोगों को बधाई। भगवान आप सबका भला करे!”

इस समझौते पर हस्ताक्षर होने के साथ ही यूएई और बहरीन क्रमशः तीसरे और चौथे देश बन गए जिनका इजरायल के साथ राजनयिक संबंध है। इससे पहले 1979 में मिस्र और 1994 में जॉर्डन ने इजरायल के साथ शांति समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।

इस दौरान ट्रंप ने कहा, “आज दोपहर हम यहाँ इतिहास बदलने आए हैं। इसराइल, यूएई और बहरीन अब एक दूसरे के यहाँ दूतावास बनाएंगे, राजदूत नियुक्त करेंगे और सहयोगी देशों के तौर पर काम करेंगे। वो अब दोस्त हैं।”

विज्ञापन