इज़राइल ने सोमवार को पूर्वी यरूशलेम में सिलवान शहर में एक मस्जिद के विध्वंस आदेश जारी किया। फिलिस्तीनी मीडिया ने स्थानीय निवासियों का हवाला देते हुए बताया कि इजरायल की एक अदालत ने ये आदेश जारी किया है।

विध्वंस नोटिस के जवाब में, गाजा में एंडोमेंट एंड धार्मिक मामलों के मंत्रालय ने एक बयान जारी किया। जिसमे आदेश की निंदा करते हुए इस कदम के खिलाफ इजरायल को चेतावनी दी गई। 2012 में निर्मित, दो मंजिल वाली इस मस्जिद में सैकड़ों लोग इबादत करते है।

फिलिस्तीनीयों ने अंतर्राष्ट्रीय समुदाय, अरब लीग और इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) को मुस्लिम पवित्र स्थलों और यरूशलेम में पूजा स्थलों की रक्षा करने का भी आह्वान किया।

इज़राइली अधिकारियों ने निवासियों को उस क्षेत्र में आदेश को चुनौती देने के लिए 21 दिन का समय दिया, जहां सिलवान कस्बे में क़ाक़ा बिन अम्र मस्जिद है, अन्यथा आदेश जारी किया जाएगा। 2015 में भी ऐसा ही एक समान विध्वंस आदेश जारी किया गया था, लेकिन इसे कभी लागू नहीं किया गया था।

हाल के वर्षों में, इज़राइली वासियों ने सिलवान में दर्जनों फिलिस्तीनी घरों पर नियंत्रण कर जब्त कर लिया है, जो कि फ्लैशपॉइंट अल-अक्सा मस्जिद परिसर के करीब है। इज़राइली बस्ती संगठन एलाड का कहना है कि वह सिलवान को एक यहूदी क्षेत्र में बदलना चाहता है जिसे डेविड शहर कहा जाता है।

विज्ञापन