las

las

इजरायल ने प्रोपगेंडा के जरिए रविवार को नेवादा के लास वेगास में हुई गोलीबारी के लिए मुस्लिमों के रिश्ते जोड़ने के लिए अपने लोगों को फैला दिया है. इस बात का खुलासा एक अमेरिकी विद्वान ने किया है.

मैडिसन में लेखक और राजनीतिक टीकाकार केविन बैरेट ने कहा कि इजरायल के प्रचारक “मुसलमानों की बदनामी करने के लिए वे सबकुछ करते हैं,”

बैरेट ने मंगलवार को प्रेस टीवी पर कहा, “कोई सबूत नहीं है कि इसमें कोई इस्लामिक संबंध है … या मुस्लिम भागीदारी. ध्यान रहे इस हमले में कम से कम 59 लोग मारे गए और 500 से अधिक घायल हुए है.

अमेरिकी अधिकारी पहले ही पुष्टि कर चुके है कि इस हमले का अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद से कोई लिंक नहीं है. हालांकि इस बीच अमाक न्यूज़ चैनल ने संदिग्ध बंदूकधारी, स्टीफन पैडॉक के कुछ महीने पहले इस्लाम अपनाने का दावा कर दिया.

इसी के साथ ये भी दावा किया गया कि आईएसआईएस के एक सैनिक ने इसे अंजाम दिया. साथ ही कहा गया कि ये हमला गठबंधन देशों को लक्षित करने के जवाब में दिया गया था.

अमेरिकी अधिकारियों ने कहा है कि वे इस दावे की जांच कर रहे हैं, लेकिन शूटर के किसी भी अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी संगठन से जुड़े होने के कोई सबूत नहीं मिल रहे.

वरिष्ठ शोधकर्ता अमरनाथ सिंह ने टेलीग्राफ को बताया कि आईएसआईएल ने पहले की तरह जिम्मेदारी का दावा किया है जो बाद में झूठे साबित हुए. इसका उदहारण जून में फिलीपींस में हुआ कैसीनो हमला है. इस केसिनों पर एक जुआरी ने हमला किया था. जिसका बाद में आईएसआईएस से कोई सबंध नहीं निकला.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?