इजरायली समाचार एजेंसी यदीऊत आहारनूत के अनुसार अधिकृत फ़िलिस्तीन में बसने वाले यहूदियों को असुरक्षा के अलावा महंगाई और बेरोजगारी पर आपत्ति है।

रिपोर्ट के अनुसार, इजरायल ऐसा देश है जो 2008 के आर्थिक संकट से मुश्किल निकल पाया है लेकिन इसके बावजूद अभी भी कई लोग इजरायल को महंगा देश मानते हैं। इजरायल में जीवन का मानक आर्गनाइज़ेशन ऑफ इकनॉमिक कॉर्पोरेशन एंड डेवलपमेंट (OECD) के सदस्य देशों से काफी नीचे है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

OECD के सदस्य देशों की तुलना में इजरायल में खाने पीने की चीजें और आवासिय मकानों की कीमतें काफी अधिक हैं। महंगाई के अलावा परिवहन और शिक्षा का स्तर भी बहुत नीचे है। बेरोजगारी का बढ़ता हुआ ग्राफ भी इजरायल के अर्थव्यवस्था को चुनौती दे रहा है।

OECD की रिपोर्ट में बताया गया है कि OECD के सदस्य देशों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी और गरीबी इसराइल में है। (Hind Khabar)