नेतन्याहू सरकार बनाने में हुए नाकाम, इजरायल में दोबारा होंगे चुनाव

5:30 pm Published by:-Hindi News
nety

इजरायल के सांसदों ने गुरुवार को बहुमत से संसद भंग करने का फैसला किया। इसके चलते देश में इस साल दूसरी बार संसदीय चुनाव का रास्ता साफ हो गया है। अब इजरायल में 17 सितंबर को फिर चुनाव होंगे। नेतन्याहू ने इस पर कहा, ‘हम फिर चुनाव जीतेंगे।’

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, बुधवार को सरकार बनाने की समयसीमा निकलने के कुछ मिनटों के बाद, फिलहाल कार्यकारी प्रधानमंत्री और लिकुड पार्टी के अध्यक्ष नेतन्याहू को संसद भंग करने के लिए 75-45 के बहुमत से वोट मिला, इस प्रकार संसद के अध्यक्ष रियूविन रिवलिन को नेतन्याहू के संभवत: मुख्य विपक्षी बेनी गेंट्ज को सरकार बनाने का आमंत्रण देने की स्थिति से बचा लिया।

रिवलिन ने इससे पहले चेतावनी दी थी कि नेतन्याहू अगर सरकार गठन में असमर्थ हो जाते हैं, तो उन्हें दूसरे पक्ष को सरकार बनाने या दोबारा चुनाव कराने के विकल्पों में से एक चुनना होगा। लेकिन बुधवार शाम वोट पड़ने से यह नौबत नहीं आई, और इसका मतलब इजरायल वासियों को इसी साल दोबारा आम चुनाव में शरीक होना होगा।

खबर के मुताबिक इजरायल के इतिहास में यह पहली बार है, जब कोई नामित प्रधानमंत्री सरकार का गठन नहीं कर पाया है। इससे पहले नेतन्याहू ने नौ अप्रैल को हुए चुनाव में रिकॉर्ड पांचवीं बार उल्लेखनीय जीत हासिल की थी, लेकिन वे एक सैन्य विधेयक को लेकर पैदा हुए गतिरोध के कारण गठबंधन करने में नाकाम रहे।

120 सदस्यीय संसद में नेतन्याहू की लिकुड पार्टी को सबसे ज्यादा 36 सीटें मिली थीं। जबकि मुख्य प्रतिद्वंद्वी ब्लू एंड ह्वाइट पार्टी के खाते में 35 सीटें आई थीं। बाकी सीटों पर दूसरी छोटी पार्टियों ने जीत दर्ज की थी।

Loading...