aba

aba

खूंखार आतंकी संगठन दाइश (ISIS) के इराक से पूरी तरह खात्मे के बाद अब देश में जश्न का माहौल है। इराक के प्रधानमंत्री ने इस ख़ुशी के अवसर पर रविवार 10 दिसंबर को आधिकारिक छुट्टी की घोषणा की है।

समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार हैदर अलएबादी ने आतंकवादी गुट दाइश के मुकाबले में इराकी जनता को मिलने वाली अंतिम जीत की घोषणा करते हुए कहा कि हमें हर लड़ाई के लिए तैयार रहना चाहिये।

अलएबादी ने इसी प्रकार इराक के वरिष्ठतम शीया धर्मगुरू आयतुल्लाह सैयद अली सीस्तानी के उस एतिहासिक फतवे की भी प्रशंसा की जो आतंकवादी गुट दाइश के अंत का कारण बना। इसी प्रकार अलएबादी ने कहा कि इतिहास इस बात को याद रखेगा कि सबसे कठिन समय में धर्म के वरिष्ठ नेतृत्व ने इराक की रक्षा की।

ज्ञात रहे कि 10 जून वर्ष 2014 को आतंकवादी गुट दाइश द्वारा इराक के मूसिल नगर पर कब्ज़ा कर लेने और इस गुट द्वारा इराक के दूसरे क्षेत्रों पर कब्ज़ा करने के प्रयास के बाद इराक के वरिष्ठतम शीया धर्मगुरू सैयद अली सीस्तानी ने एक फत्वा जारी किया जिसमें उन्होंने दाइश से मुकाबले को जेहाद कहा और समस्त इराकियों का आह्वान किया था कि वे हथियार उठायें और आतंकवादियों का मुकाबला करें।

इस फतवे के बाद इराक के हज़ारों लोगों ने स्वयं सेवी बल हश्दुश्शाबी का गठन किया और इस देश की सेना के साथ मिलकर आतंकवादी गुट दाइश का मुकाबला किया और इराक के विभिन्न क्षेत्रों से दाइश का अंत कर दिया।

Loading...

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें