सीरिया और इराक़ में लड़ाई हार रहे आतंकी संगठन आईएस के लड़ाके पवित्र पुस्तक क़ुरान की प्रतियों में बम रखकर हमले कर रहे हैं।

अमरीकी नेतृत्व वाले गठबंधन के प्रवक्ता कर्नल स्टीव वारेन ने कहा है कि आतंकियों के क़ब्ज़े से इलाक़े लगातार निकल रहे हैं और कई स्थानों पर इन आतंकियों ने क़ुरआन की प्रतियों में बम फ़िट करके छोड़े थे ताकि बाद में इन क्षेत्रों में दाखिल होने वाले सैनिक उनका निशाना बनें। उन्होंने कहा कि रेमादी नगर में क़ुरआन की कई प्रतियां प्राप्त हुईं जिनमें आतंकियों ने बम फ़िट कर दिए थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

वारेन का कहना था कि इस समय तक आतंकियों के क़ब्ज़े वाले क्षेत्रों का 40 प्रतिशत भाग उनके हाथ से निकल चुका है और उनके बहुत से लड़ाके मारे गए हैं जिसके बाद आतंकी संगठन बच्चों की भर्ती कर रहा है।

इराक़ के दियाला प्रांत में इराक़ी सुरक्षा बलों ने बड़ी संख्या में क़ुरआन की एसी प्रतियां मिलीं जिनमें आईएस के आतंकियों ने बम फ़िट कर रखे थे। (hindkhabar)