अफ़गानिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति हामिद करज़ई ने खूंखार आतंकी संगठन के पीछे अमेरिका का हाथ बताया हैं. करज़ई ने कहा है कि आतंकवादी गुट दाइश क्षेत्र में अमेरिकी उपज है.

फॉक्स न्यूज़ टीवी चैनल के साथ बातचीत में उन्होंने कहा, आतंकवादी संगठन आईएसआईएस अमेरिकी हथकंडा और उसकी उपज है और यह देश अब फगानिस्तान की जमीन का इस्तेमाल अपने हथियारों के परीक्षण के रूप में कर रहा है. उन्होंने कहा कि आईएसआईएस की जड़ विदेश में है और क्षेत्र में अमेरिकी सैनिकों की उपस्थिति के साथ वर्ष 2015 में उसका गठन हुआ हैं.

वहीँ दूसरी और अफगानिस्तान में नैटो सैनिकों बने रहेंगे. नैटो के महासचिव जेन्स स्टोल्टेनबर्ग ने गुरूवार को कहा कि आतंकवाद से मुकाबले के लिए लंबे समय तक अफगानिस्तान में बने रहेंगे.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने दावा किया कि अफगान सुरक्षा बलों को प्रशिक्षण देना इस देश में नैटो की महत्वपूर्ण ज़िम्मेदारी होगी. नैटो के महासचिव ने स्पष्ट किया कि नैटो को चाहिये कि वह अफगानिस्तान में लंबे वर्षों तक भूमिका निभाये.

Loading...