इराक़ के मूसल में जंग के दौरान कवरेज करने पहुंची कुर्द महिला पत्रकार की बम धमाके से मौत हो गई हैं. टीवी रुदा के लिए काम करने वाली शिफ़ा गर्दी कवरेज के दौरान सड़क किनारे हुए एक बम धमाके का शिकार हो गईं.

दरअसल, वे इस्लामिक स्टेट के कब्जे वाले शहर के पश्चिमी इलाक़ों में सैन्य अभियान की कवरेज कर रहीं थीं. याद रहे इराक़ी सेना ने बीते साल अक्तूबर में मूसल को इस्लामिक स्टेट के क़ब्ज़े से छुड़ाने का सैन्य अभियान शुरू किया हुआ हैं.

रुदा टीवी के मुताबिक़ शिफ़ा गर्दी के साथ काम कर रहे कैमरामैन यूनिस मुस्तफ़ा भी धमाके में घायल हो गए हैं. चैनल ने अपनी वेबसाइट पर कहा है कि शिफ़ा गर्दी मूसल से रोज़ाना शो कर रहीं थीं और हाल के दिनों में ही शहर के भीतर से संघर्ष की कवरेज कर रहीं थीं.

रूदा टीवी का कहना है कि 30 वर्षीय शिफ़ा गर्दी ने इस आम राय को तोड़ा था कि पत्रकारिता सिर्फ़ पुरुषों के लिए है. शुक्रवार को सैन्यबल मूसल के पश्चिमी ज़िलों में पहली बार दाखिल होने में कामयाब हुए


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें