rou

तेहरान  ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने शनिवार को विश्व भर के मुसलमानों का आह्वान करते हुए कहा कि वे अमेरिका के विरूद्ध एक हों। उन्होंने सऊदी लोगों को भाई बताते हुए कहा है कि उन्हें तेहरान से डरने की आवश्यकता नहीं है।

रूहानी ने इस्लामिक एकता सम्मेलन में कहा, ‘आज अमेरिका चाहता है कि पश्चिम एशिया उसका गुलाम हो जाए।’ उन्होंने कहा, ‘अपराधियों के लिए लाल कालीन बिछाने के बजाय मुसलमान सरकारों को अमेरिका और ‘क्षेत्र की कैंसर की गांठ’ इस्राइल के खिलाफ एक हो जाना चाहिए।’

सऊदी अरब को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि वह ‘अपमानजनक’ अमेरिकी सहायता को लेना बंद करे। रूहानी ने कहा, ‘हम सऊदी लोगों के हितों की आतंकवाद और अत्यधिक शक्तिशालियों से अपनी पूरी क्षमता से सुरक्षा करने के लिए तैयार हैं।’ उन्होंने कहा, ‘हम इसके लिए 450 अरब अमेरिकी डालर नहीं चाहते और आपका अपमान नहीं करेंगे।’

crown
source: Al Arabiya

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

उन्होंने इजराइल को एक ‘‘फर्जी शासन’’ करार दिया जिसे पश्चिमी देशों द्वारा स्थापित किया गया है। उन्होने कहा कि द्वितीय विश्वयुद्ध के मनहूस परिणामों में से एक क्षेत्र में एक कैंसर कारक ट्यूमर का निर्माण था।’’

रूहानी ने ईरान के क्षेत्रीय प्रतिद्धंद्वी सऊदी अरब की ओर परोक्ष रूप से इशारा करते हुए कहा कि अमेरिका इजराइल की रक्षा करने के लिए ‘‘क्षेत्रीय मुस्लिम देशों’’ के साथ अपने निकट संबंधों का इस्तेमाल करता है।

Loading...