hass

2015 परमाणु संधि को तोड़ धोखा देने वाले अमेरिका पर ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी भड़क उठे। उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री को भी नसीहत दे डाली कि वह किसी भी कीमत पर अमेरिका का भरोसा नहीं करे।

ईरान की इस्लामिक रिपब्लिक न्यूज एजेंसी के मुताबिक रूहानी ने विदेश मंत्री री से कहा, ‘हाल के सालों में अमेरिकी प्रशासन के प्रदर्शन ने देश को दुनियाभर की नजर में अविश्वसनीय बना दिया है, जो अपने किसी भी दायित्व को पूरा नहीं करता है।’

रूहानी ने कहा, ‘मौजूदा स्थिति में दोस्त देशों को रिश्ते और सहयोग मजबूत करने चाहिए। ईरान और उत्तर कोरिया हमेशा से ही कई मुद्दों पर एक से विचार रखते आए हैं।’ बता दें कि री सिंगापुर में सिक्यॉरिटी फोरम की बैठक में हिस्सा लेने के बाद तेहरान पहुंचे थे।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

kim1

इस दौरान  उत्तर कोरिया के विदेश मंत्री ने भी 2015 के परमाणु संधि से अमेरिका के अलग होने को अंतरराष्ट्रीय नियमों और कानूनों का उल्लंघन बताया है। री ने कहा कि, उत्तर कोरिया की रणनीतिक नीति के तहत ईरान के साथ अपने रिश्ते मजबूत करना है।

इस बीच, ईरान ने आखिरी क्षणों में अमेरिका की ओर से बातचीत का प्रस्ताव ठुकरा दिया है। उन्होंने कहा कि ट्रंप प्रशासन द्वारा प्रतिबंध हटाने से मुकरने के बाद अब कोई बातचीत नहीं हो सकती है।