हाल ही में ईरान द्वारा मीज़ाईल टेस्ट करने को लेकर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा लगाये प्रतिबंध के बाद दोनों देशों के बीच रिश्तें काफी तनावपूर्ण हो चुके हैं. ऐसे में अब ईरान ने अमेरिकी कंपनियों और संगठनों को देश में प्रतिबंधित करने का फैसला किया हैं.

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता बहराम क़ासेमी ने सोमवार को तेहरान में प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा कि अमरीका की पाबंदियों के जवाब में ईरान जल्द ही उन अमरीकी कंपनियों व संस्थाओं के ख़िलाफ़ पाबंदी की सूचि प्रकाशित करेगा जो आईएसआईएस सहित तकफ़ीरी आतंकवादी गुट को मदद कर रही हैं और साथ ही इजराइल शासन के हाथों फ़िलिस्तीन की पीड़ित जनता का दमन कराने में लिप्त हैं.

क़ासेमी ने मीज़ाईल के विषय को ईरानी जनता, सरकार व संप्रभुता से जुड़ा हुआ बताया, उन्होंने स्पष्ट किया कि ईरान अपने राष्ट्रीय हितों के बारे में दूसरों से बातचीत नहीं करता और ईरान के मीज़ाईल टेस्ट के बारे में अमरीका की प्रतिक्रिया पूरी तरह दुश्मनी पर आधारित है.

ईरान के ख़िलाफ़ इजराइल शासन की ताज़ा गतिविधियों के बारे में कहा कि ज़ायोनी शासन ईरान के ख़िलाफ़ हमेशा लामबंदी में लगा रहता है और उसे लग रहा है कि मौजूदा दौर में ईरान के ख़िलाफ़ लामबंदी का मौक़ा मुहैया है.


शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें