आर्मेनिया और अज़रबैजान के बीच छीड़ी जंग को लेकर ईरान का कहना है कि इस क्षेत्र में करबैख को लेकर अजरबैजान और अर्मेनिया के बीच टकराव को अधिक सकता झेला जा सकता है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता सईद ख़तीबज़ादेह ने सोमवार को यह टिप्पणी की।

उन्होंने कहा, “हम अपनी सीमाओं में एक सैन्य संघर्ष की निरंतरता को बर्दाश्त नहीं कर सकते, और इस क्षेत्र में शांत सुनिश्चित करने के लिए अपनी पूरी कोशिश करेंगे।” बता दें कि सोमवार को दो और रॉकेट उत्तर-पश्चिमी ईरान के खोदा-अफ़रीन के सीमा क्षेत्र में एक खेत में घरों के पास गिरे।

इस बीच, अज़रबैजान के राष्ट्रपति ने एक आंशिक सैन्य लामबंदी की घोषणा की।

इंटरफैक्स समाचार एजेंसी ने अर्मेनियाई रक्षा मंत्रालय के प्रतिनिधि के हवाले से कहा कि 200 अर्मेनियाई घायल हो गए। करबख में अर्मेनियाई समर्थित बलों ने बताया कि उनके अधिक 15 लड़ाके रात भर संघर्ष में मारे गए। इससे पहले रविवार को उनकी सेना के 16 लोग मारे गए थे और 100 से अधिक घायल हुए थे।

खतीबज़ादेह ने कहा कि इस्लामिक रिपब्लिक ने दोनों पक्षों से लड़ाई को जल्द से जल्द खत्म करने और समाधान खोजने के लिए बातचीत करने को कहा है। खतीबजादेह ने कहा, “सैन्य समाधान इस लंबे समय तक संघर्ष के लिए एक स्थायी निपटान के लिए नहीं है।”

उन्होने कहा, “दुर्भाग्य से, नागरिक मुख्य रूप से निशाना बन रहे हैं।” खतीबज़ादेह ने कहा कि ईरान स्थिति पर बहुत बारीकी से नज़र रखे हुए है, सभी पक्षों के साथ लगातार संपर्क में है, और स्थिति को मापने में मदद करने के लिए अपनी शक्ति में सभी का निवेश करता है।

Loading...
विज्ञापन
अपने 2-3 वर्ष के शिशु के लिए अल्फाबेट, नंबर एंड्राइड गेम इनस्टॉल करें Kids Piano