ईरान में सात साल की बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सिद्ध हो जाने पर आरोपी को ऐसी सज़ा दी गई. जिसकी भयावता से महिलाओं के खिलाफ कोई दुर्व्यवहार करने की भी हिम्मत न करे.

बलात्कारी इस्माइल जाफरजेदाह ने बीती 19 जून को अपने घर से बाहर निकली के सात साल की बच्ची को अगवा कर लिया था. बच्ची का शव कुछ दिनों बाद उसी के गैराज में मिला था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इस घटना के बाद पुरे देश में हंगामा मच गया था. जिसके चलते मुल्क के राष्ट्रपति हसन रूहानी को दखल तक देना पड़ा था. मामले की गंभीरता को देखते हुए इस केस की सात दिन में जांच पूरी की गई.

जांच के दौरान आरोपी ने अपना गुनाह कबूल कर लिया. साथ ही आरोपी को सुप्रीम कोर्ट ने मौत की सजा सुना दी. सज़ा के ऐलान के साथ ही 20 सितंबर को आरोपी को सार्वजनिक रूप से मौत की सजा दी गई.

दोषी इस्माइल जाफरजेदाह को बीते बुधवार (20 सितंबर) को आर्डेबिल प्रांत के परसाबाद चौक पर फांसी दी गई. जिसका ईरान सरकार ने स्टेट ब्रोडकास्टिंग मीडिया पर लाइव प्रसारण किया.

Loading...