ईरान की हज कमेटी के प्रमुख ने कहा है कि सऊदी अरब ने अपनी हार का बदला हज में ईरानी नागरिकों को अनुमति नहीं देकर लिया हैं. सईद औहदी ने सऊदी अरब द्वारा ईरानी नागरिकों को हज के लिए न आने देने के कारणों का उल्लेख करते हुए कहा कि मुख्य कारण, अन्य मोर्चों पर सऊदी अरब को होने वाली पराजयों का बदला लेना है.

उन्होंने आगे कहा कि सऊदी अरब इस बात से डर रहा हैं किईरानी हाजी गत वर्ष मिना की त्रासदी में हताहत होने वालों की संख्या और उसमें सऊदी अरब की ग़लती से पर्दा उठा देंगे. उन्होंने कहा कि सऊदी हुकूमत ने अंतिम समय तक मिना त्रासदी में मरने वालों की संख्या 700 बताई जबकि सऊदी अरब के स्वास्थ्य मंत्रालय ने 4370 लोगों के मारे जाने की बात कही है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

ईरान की हज समिति के प्रमुख ने कहा कि इस्लामी क्रांति के वरिष्ठ नेता द्वारा मिना त्रासदी के संबंध में ठोस नीति अपनाए जाने के बाद ईरान एेसा एकमात्र देश था जिसने अपने सभी मृतकों के शव, स्वदेश पहुंचाए. औहदी ने कहा कि अन्य देश अब भी पिछले साल हज के अवसर पर मिना त्रासदी में मारे गए अपने नागरिकों की स्थिति का निर्धारण करना चाहते हैं और अन्य देशों के 80 प्रतिशत मृतकों की स्थिति का निर्धारण नहीं हो पाया है.