Tuesday, July 27, 2021

 

 

 

ईरान ने दिल्ली दंगों को मुसलमानों के विरुद्ध ‘संगठित हिंसा’ बताकर जताया विरोध

- Advertisement -
- Advertisement -

तेहरान. ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने दिल्ली में हुई हिंसा की निंदा की। उन्होने इसे मुस्लिमो के खिलाफ ‘संगठित हिंसा’ करार दिया। उन्होने भारतीय अधिकारियों से आग्रह किया कि वे सभी भारतीयों की सलामती सुनिश्चित करें और निर्रथक हिंसा को फैलने से रोकें।

ज़रीफ़ ने लिखा, सदियों से ईरान भारत का दोस्त रहा है। हम भारतीय अधिकारियों से आग्रह करते हैं कि वे सभी भारतीयों का ख़्याल रखें और उनके साथ कोई अन्याय ना होने दें। शांतिपूर्ण संवाद और क़ानून के शासन में ही आगे का रास्ता निहित है।

इससे पहले तुर्की, पाकिस्तान, इंडोनेशिया और अमरीका के राजनेताओं की ओर से भी दिल्ली में हुई हिंसा पर टिप्पणी की गई थी। इसके अलावा सयुंक्त राष्ट्र, इस्लामिक सहयोग संगठन (OIC) और अमेरिकी आयोग भी हिंसा को लेकर कड़े बयान जारी कर चुके है।

हालांकि भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा था कि एजेंसियां हिंसा को रोकने और परिस्थितियों को सामान्य बनाने के काम में लगी हुई हैं। कुमार ने अंतरराष्ट्रीय संगठनों से इस संवेदनशील समय के दौरान गैर जिम्मेदाराना बयान न देने की अपील की थी।

वहीं पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भी दिल्ली हिंसा को लेकर भारत सरकार पर निशाना साधा था। उन्होंने ट्वीट किया था- भारत में 20 करोड़ मुसलमानों को निशाना बनाया जा रहा है। उन्होंने दिल्ली हिंसा की तुलना जर्मनी में यहूदियोें पर हुए हमले से की। इमरान ने कहा था कि नाजियों से प्रेरित आरएसएस ने परमाणु हथियार वाले देश पर कब्जा कर लिया है।

दिल्ली हिंसा के विरोध में बांग्लादेश में कई जगहों पर प्रदर्शन हुआ और कई इस्लामिक पार्टियों ने शेख़ मुजीबुर रहमान की सौवीं जयंती पर भारतीय प्रधानमंत्री मोदी को भेजे गए आमंत्रण को रद्द करने की माँग भी की है। साथ ही यूरोप के कई देशों में भी विरोध-प्रदर्शन जारी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles