तेहरान. ईरान की संसद ने मंगलवार को एक और बिल पास किया। जिसमे अमेरिकी नियंत्रण के अंतर्गत आने वाले समस्त सैन्यबलों, संगठनों को आतंकवादी समूह घोषित किया गया है।

मंगलवार को ईरानी संसद में मौजूद 215 सांसदों में से 173 ने अमेरिका के खिलाफ लाए गए इस बिल का समर्थन किया। अमेरिका ने पिछले साल 2015 में हुई परमाणु संधि को तोड़ा था। ईरान पर लगाए गए सभी प्रतिबंध दोबारा लागू कर दिए थे।

इससे पहले अमेरिका के द्वारा इस्लामिक रिवोल्यूशन गॉर्ड्स कॉर्प्स को आतंकी संगठन बताए जाने पर ईरान ने सेंटकॉम को आतंकी संगठन घोषित किया था। सेंटकॉम का सुनियोजन राष्ट्रपति रोनाल्ड रीगन ने 1 जनवरी 1983 को किया था।

donald trump reuters 1

सका उद्देश्य मिडिल ईस्ट देशों में अमेरिका के हितों को समर्थन देना था। इसमें अफ्रीका से सेंट्रल एशिया तक के हिस्से की सुरक्षा का दारोमदार अमेरिकी सेना के जिम्मे था।

सेंटकॉम के अंतर्गत अमेरिकी सैन्य बलों के साथ कुछ संगठन भी शामिल हैं। जिन पर इराक, ईरान, पाकिस्तान, अफगानिस्तान समेत अरेबियन पेनिन्सुला, दक्षिणी लाल सागर और सेंट्रल एशिया के पांच गणराज्यों में अमेरिका के हितों की रक्षा करने का जिम्मा है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें