ईरान कर सकता है अमेरिका से बातचीत, हसन रूहानी ने डोनाल्ड ट्रंप से….

11:25 am Published by:-Hindi News

ईरान द्वारा दोबारा परमाणु कार्यक्रम शुरू करने की धमकी देने के बाद यूरोपी संघ परमाणु समझौते को बचाने की कोशिशों में तेजी से जुट गया है। यूरोपीय संघ के अपने समकक्षों के साथ वार्ता से पहले ब्रिटेन के विदेश मंत्री जेरेमी हंट ने सोमवार को कहा कि ईरान की कार्रवाई ‘काफी अस्थिरता फैलाने वाली’ हैं लेकिन वह पश्चिम एशिया में तनाव घटाना चाहते हैं।

हंट ने ट्वीट किया,’ईरान के साथ तनाव कैसे कम किया जाए-इस पर जरूरी बातचीत करने के लिए मैं ब्रशेल्स जा रहा हूं।’ उन्होंने कहा,’पश्चिम एशिया के प्रति उनका रुख बहुत ही अस्थिरता फैलाने वाला है लेकिन हम ग्रेस 1 टैंकर को लेकर तनाव बढ़ाना नहीं, घटाना चाहते हैं और क्षेत्र में परमाणु होड़ से बचना चाहते हैं।

वहीं ईरान ने कहा है कि यदि अमेरिका उस पर लगे प्रतिबंधों को हटाता है तो वह बातचीत के लिए पूरी तरह से तैयार है। समाचार एजेंसी मेहर के मुताबिक ईरान के राष्ट्रपति हसन रूहानी ने रविवार को कहा, “हम हमेशा से बातचीत के लिए तैयार हैं। मैं आपको बताना चाहता हूं कि आप हमें धमकाना बंद करें और बुद्धिमता दिखाते हुए प्रतिबंधों को हटाएं। हम बातचीत के लिए तैयार हैं।”

macr

इसके अलावा फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुअल मैक्रों ने सोमवार को कहा कि मध्य पूर्व में तनाव कम करने के लिए वह इस हफ्ते ईरानी राष्ट्रपति हसन रूहानी, रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से बात करेंगे।

बता दें कि अमेरिका और ईरान के बीच तनाव का दौर गत वर्ष मई में उस समय शुरू हुआ, जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने परमाणु करार से हटने का एलान कर दिया था। इसके बाद उन्होंने ईरान पर कई प्रतिबंध थोप दिए। ईरान ने 2015 में अमेरिका, रूस, फ्रांस, ब्रिटेन, चीन और जर्मनी के साथ परमाणु करार किया था।

खानदानी सलीक़ेदार परिवार में शादी करने के इच्छुक हैं तो पहले फ़ोटो देखें फिर अपनी पसंद के लड़के/लड़की को रिश्ता भेजें (उर्दू मॅट्रिमोनी - फ्री ) क्लिक करें