mkll

mkll

हाल ही में अमरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प द्वारा जेरुसलम को इजरायल की राजधानी घोषित कर अमेरिकी दूतावास को तेलअवीव से जेरुसलम शिफ्ट करने का ऐलान किया था.

ऐसे में अब ईरान की संसद ने जेरुसलम पर प्रस्ताव पारित कर जेरुसलम को फिलिस्तीन की राजधानी घोषित किया है. आईसीएएनए समाचार एजेंसी के अनुसार, 290 में से 207 सांसदों ने इस प्रस्ताव को अपना समर्थन दिया है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बुधवार को संसद को संबोधित करते हुए, संसद अध्यक्ष अली लरजानी ने बिल के समय को “महत्वपूर्ण” के रूप में वर्णित किया. उन्होंने कहा, यह अमेरिका के उस कदम का जवाब है जिसमे जेरुसलम को इजरायल की राजधानी घोषित कर मुस्लिमों को झटका दिया गया था.

ध्यान रहे 6 दिसंबर को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने जेरुसलम को इजरायल की राजधानी घोषित करने के फैसले के खिलाफ सयुंक्त राष्ट्र की आम सभा में प्रस्ताव पेश किया गया. जिसमे अमेरिकी राष्ट्रपति के इस फैसले को  अंतराष्ट्रीय नियमों के खिलाफ मानकर खारिज कर दिया गया.

तुर्की और यमन द्वारा लाये गए प्रस्ताव के समर्थन में सयुंक्त राष्ट्र की आम सभा में 128 सदस्य देशों ने अपना समर्थ दिया. जबकि अमेरिका के समर्थन में केवल 9 देशों ने वोट किया था.