Thursday, January 20, 2022

इस्लाम में सुधार की जरुरत नहीं, सिर्फ किया जा सकता है नवीनीकरण: तुर्की

- Advertisement -

तुर्की के उप प्रधान मंत्री बाकिर बुजदाग ने गुरुवार को कहा कि न तो तुर्की सरकार और न ही धार्मिक मामलों की प्रेसीडेंसी (डीआईबी) इस्लाम में कोई सुधार करने की कोशिश कर रही है. उन्होंने कहा कि कुछ उलेमाओं भ्रम को दूर करने के लिए DİB को अधिक सक्रिय भूमिका निभानी होगी.

अंकारा में मीडिया से बात करते हुए, डीआईबी के राष्ट्रपति प्रोफेसर अली इरबास के साथ, बुजदाग ने “इस्लाम को अद्यतन करने” पर ध्यान केंद्रित किया.

उन्होंने कहा, “इस्लाम में सुधार नहीं किया जा सकता है और कोई भी ऐसा नहीं कर सकता है जो इस्लाम में सुधार करना चाहता है.” हम सभी कह रहे हैं कि कुछ प्रचारकों की टिप्पणियां जो इस्लाम के प्राथमिक स्रोतों पर आधारित नहीं हैं, कुरान और हदीस को अद्यतन करने की आवश्यकता हो सकती है.”

उप प्रधान मंत्री ने कहा कि वे आने वाले दिनों में सभी धार्मिक राय नेताओं को उनके विचारों की व्याख्या करने और इस मुद्दे के बारे में गलतफहमी से बचने के लिए आमंत्रित करेंगे.

साथ ही उन्होंने सभी प्रांतों में महिला डिप्टी मुफ्ती का चयन करने और नियुक्त करने की भी बात कही. उन्होंने कहा, “इस्लाम और महिला” शीर्षक के तहत एक परामर्श बैठक जल्द ही महिला धर्मशास्त्रियों के साथ आयोजित की जाएगी.

बता दें कि कुछ दिनों पहले इस्लाम का हवाला देकर मुस्लिम महिलाओं के साथ हिंसा को जायज ठहराने की कोशिश की गई थी. जिसकी आलोचना खुद आगे आकर तुर्की राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान ने की थी.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles