4bpo2e967a0912140b3 800c450

सीरिया की राजधानी दमिश्क़ के उपनगरीय क्षेत्र दूमा में हालिया संदिग्ध केमिकल हमले को आधार बनाकर अमरीका, ब्रिटेन और फ़्रांस ने मीज़ाईलों से सीरिया पर हमला किया था. इस सबंध में रूस ने बड़ा दावा किया है.

सोमवार को हेग में रूस के प्रतिनिधि एलेक्ज़ेन्डर शुल्गिन ने रासायनिक हथियार निषेध संगठन ओपीसीडब्लयू की बैठक में कहा कि फ़ॉल्स फ़्लैग कार्यवाही के तहत इस केमिकल अटैक को ब्रिटिश इंटेलिजेंस ने अंजाम दिया था. जिसके सारे सबूत मौजूद है.

उन्होंने कहा, “हमे न सिर्फ़ विश्वास है बल्कि हमारे पास इस बात के ठोस सुबूत हैं कि 7 अप्रैल को दूमा में केमिकल हमला नहीं हुआ.” उन्होंने इसे ब्रितानी गुप्तचर सेवा द्वारा की गयी फ़ॉल्स फ़्लैग कार्यवाही बताया जिसमें अमरीकी गुप्तचर संगठन का भी हाथ हो सकता है.

putin

बता दें कि फ़ॉल्स फ़्लैग उस सैन्य कार्यवाही को कहते हैं जिसके लिए जिस पक्ष को ज़िम्मेदार ठहराया जाता है, वह ज़िम्मेदार नहीं होता बल्कि किसी और ने उसे अंजाम दिया होता है.

ख़ास बात ध्यान देने योग्य ये है कि सीरिया 2013 में ही अपने केमिकल हथियार यूएन व ओपीसीडबल्यू के संयुक्त अभियान को हवाले कर चुका है.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?