rawa

इस्लामाबाद.पाकिस्तान की पंजाब प्रांत की सरकार ने रावलपिंडी के कृष्ण मंदिर के जीर्णोद्धार के लिए 2 करोड़ रुपए जारी किए हैं. बता दे कि ये मंदिर 120 साल से भी ज्यादा पुराना है.

कृष्ण मंदिर रावलपिंडी और इस्लामाबाद में एकमात्र मंदिर है. पाक सरकार ने यह राशि मंदिर की मरम्मत के अलावा उसके विस्तारीकरण के लिए जारी की है. मंदिर का विस्तार इसलिए किया जा रहा है ताकि हिदुओं के त्योहार के मौकों पर यहां ज्यादा से ज्यादा भक्त जुट सकें.

इस मंदिर का निर्माण 1897 में कांजी मल और उजगर मल राम रछपाल ने करवाया था. 1949 में यह मंदिर दोबारा खोला गया. 1970 तक इस मंदिर का प्रबंधन स्थानीय हिदुओं के हाथ में था. 1970 में विस्थापित ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड (ईटीपीबी) ने इसे अपने हाथ में ले लिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

इवैक्यूई ट्रस्ट प्रॉपर्टी बोर्ड (ETPB) उप प्रशासक मोहम्मद आसिफ ने बताया कि मंदिर का सौंदर्यीकरण कार्य शीघ्र शुरू होगा. एक टीम ने स्थल का दौरा किया है और कार्य शुरू करने की योजना बताई। जहां पर प्रतिमाएं रखी गयी हैं, उस मुख्य कक्ष को सौंदर्यीकरण की समाप्ति तक बंद रखा जाएगा.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस मंदिर में हर दिन सुबह और शाम 2 बार आरती की जाती है जिसमें 6 से 7 लोग उपस्थित रहते हैं. स्थानीय निवासी जग मोहन अरोड़ा के मुताबिक फिलहाल मंदिर परिसर में 100 लोग ही जमा हो सकते हैं लेकिन सौंदर्यीकरण के बाद यह क्षमता बढ़ जाएगी.