kkkl

ढाका: म्यांमार सरकार ने बांग्लादेश में रोहिंग्या शरणार्थियों के शिविर का दौरा करने के लिए अपने सामाजिक कल्याण और राहत एवं पुनर्वास मंत्री विन म्यात आय को भेजा है.

बुधवार को उन्होंने दक्षिण पूर्वी बांग्लादेश के एक कैंप में रोहिंग्या मुसलमानों के एक पचास सदस्यीय गुट से मुलाक़ात की. इस मुलाक़ात में उन्होंने कहा कि रोहिंग्या मुसलमानों की म्यांमार वापसी बहुत अहम है.

म्यांमार के सामाजिक कल्याण मंत्री ने रोहिंग्या मुसलमानों को नागरिकता का अधिकार देने के बारे में कहा कि सरकार इसे व्यवहारिक बनाने की कोशिश कर रही है. म्यांमार मंत्री के दौरे पर कुछ उम्मीद बंधी है.

rohingya123

बांग्लादेश के अधिकारियों ने आशा जताई है कि म्यांमार के सामाजिक कल्याण मंत्री की यात्रा से रोहिंग्या मुसलमानों की म्यांमार वापस की प्रक्रिया में तेज़ी आएगी. बता दें कि म्यांमार की सेना द्वारा सीमा से तकरीबन 7 लाख मुस्लिम अल्पसंख्यक समुदाय के सदस्यों को खदेड़ने के बाद म्यांमार के किसी मंत्री की इस तरह की पहली यात्रा है.

संयुक्त राष्ट्र के अनुसार, 25 अगस्त के बाद से लगभग 6,55,500 रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश में प्रवेश कर चुके हैं, जबकि 5,00,000 रोहिंग्या वहां पहले से ही रह रहे हैं.

कोहराम न्यूज़ को सुचारू रूप से चलाने के लिए मदद की ज़रूरत है, डोनेशन देकर मदद करें




Loading...

कोहराम न्यूज़ की एंड्राइड ऐप इनस्टॉल करें