Friday, December 3, 2021

रोहिंग्या परिवार की स्वदेश वापसी का म्यांमार का दावा निकला झूठा

- Advertisement -

शनिवार को म्यांमार सरकार की और से बांग्लादेश में रह रहे सात लाख रोहिग्या शरणार्थियों में से एक परिवार की स्वदेश वापसी को झूठा करार देते हुए खारिज कर दिया है.

बांग्लादेश के गृह मंत्री असद. उज्जमां खान ने कहा कि म्यांमा का यह दावा झूठा है कि परिवार वापस स्वदेश चला गया है. उन्होंने कहा कि परिवार कभी भी बांग्लादेशी के क्षेत्र में नहीं आया था. खान ने कहा कि म्यांमा का कदम कुछ नहीं बल्कि एक स्वांग है.

उन्होंने कहा , ‘‘मुझे उम्मीद है कि म्यांमा कम से कम मुमकिन वक्त में सभी रोहिंग्या परिवारों को वापस लेगा. बांग्लादेश के शरणार्थी और स्वदेश वापसी आयुक्त अबुल कलाम ने कोक्स बाजार से फोन पर कहा कि कोई भी स्वदेश वापस नहीं गया है.’’

बता दें कि म्यांमार सरकार ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज पर जानकारी देते हुए कहा था कि क मुस्लिम परिवार के पांच सदस्य शनिवार को एक ‘स्वदेश वापसी शिविर’ में पहुंचे और उन्हें खाद्य आपूर्ति व राष्ट्रीय सत्यापन कार्ड प्रदान किए गए.

म्यांमार लौटे पांच सदस्यीय परिवार में एक आदमी, दो महिलाएं, एक छोटी लड़की और एक लड़का शामिल है. सरकार की ओर से परिवार को हर संभव मदद का भरोसा दिया गया है. उन्हें मच्छरदानी, चावल, बरतन, कंबल, लुंगी और रसोई का सामान दिया जा चुका है.

बता दें कि पिछले साल 25 अगस्त को म्यांमार सेना के अभियान के बाद करीब 700,000 रोहिंग्या मुसलमानों ने पड़ोसी बांग्लादेश में शरण ली हुई है. संयुक्त राष्ट्र और अमेरिका ने सेना की कार्रवाई को ‘नस्ली सफाया’ करार दिया हुआ है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles