Thursday, December 2, 2021

सयुंक्त राष्ट्र का बड़ा फैसला – ‘म्यांमार की सेना को किया ब्लैकलिस्ट’

- Advertisement -

संयुक्त राष्ट्र संघ में म्यांमार की सेना को ब्लैकलिस्ट कर दिया है. यूएन ने ये कदम म्यांमार की सेना द्वारा रोहिंग्याओं पर यौन हिंसा को लेकर उठाया है. यूएन ने सबूतों के आधार पर म्यांमार की सेना को सरकार और विद्रोही समूहों की सूची में डाला है.

महासचिव एंतोनिया गुतारेस की सुरक्षा परिषद को दी गई रिपोर्ट की एक अग्रिम प्रति में कहा कि अंतरराष्ट्रीय चिकित्सा कर्मियों और बांग्लादेश में मौजूद अन्य लोगों का कहना है कि म्यांमार से वहां पहुंचे करीब 7,00,000 रोहिंग्या मुसलमानों ने क्रूर यौन उत्पीड़न के कारण शारीरिक एवं मनोवैज्ञानिक पीड़ा झेली.

गुतारेस ने कहा कि इस दौरान बड़े स्तर पर भय फैलाया गया और यौन हिंसा की गई जिसका मकसद रोहिंग्या समुदाय को अपमानित करना, आतंकित करना और सामूहिक रूप से दंडित करना था, जो कि उन्हें (रोहिंग्या मुसलमानों को) अपने घर छोड़ने के लिए मजबूर करने और उनकी वापसी रोकने के लिए उठाया गया एक सोचा समझा कदम था.

antt

गुतारेस ने कहा कि बड़े स्तर पर भय फैलाना, यौन हिंसा करना इस रणनीति का अहम हिस्सा था. सुरक्षा परिषद की इस रिपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय मेडिकल टीम और बांग्लादेश में मौजूद लोगों ने तैयार किया है.

बता दें कि बौद्ध बहुल म्यांमार रोहिंग्याओं को एक नस्लीय समूह मानने से इनकार करता है और कहता है कि वे बांग्लादेश से आए प्रवासी बंगाली हैं जो देश में अवैध रूप से रह रहे हैं. म्यांमार ने उन्हें नागरिकता नहीं दी है जिसकी वजह से उनके पास किसी देश की नागरिकता नहीं है.

- Advertisement -

[wptelegram-join-channel]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles