राष्ट्रपति रजब तैय्यब एर्दोगान ने एक बार फिर से सीरिया के अफ्रिन मामले में तुर्की की सैन्य कार्रवाई पर अपनी हालिया टिप्पणियों को लेकर संयुक्त राष्ट्र की निंदा की और कहा कि अमेरिका ने तुर्की को धोखा देने की कोशिश की है.

अंकारा में अपने सत्तारूढ़ न्याय और विकास पार्टी (ए केपी) समूह की बैठक में एर्दोगान ने कहा, “यदि हम रणनीतिक साझेदार हैं, तो हमें एक-दुसरे का सम्मान करना होगा और साथ आगे बढ़ना होगा. तुम [यू.एस.] ने हमें धोखा देने की कोशिश की. आपने वहाँ 5,000 ट्रक हथियार भेजे थे. आपने वहाँ 2,000 से अधिक ट्रक गोला बारूद भेजा है. हम चाहते थे कि हम आपके हथियार को अपने पैसे से खरीद लें, लेकिन आपने हमें कुछ नहीं दिया. यह किस प्रकार की रणनीतिक साझेदारी या एकजुटता है? “

“यू.एस. के प्रवक्ता की टिप्पणी पर पलटवार करते हुए उन्होंने कहा, ‘हम अफ्रिन की स्थिति के बारे में चिंतित हैं.’ जब हम आपको  हमारी चिंताओं से अवगत कराना चाहते थे तो आप कहां थे? आप कहां थे जब हमने कहा, ‘हम वहां से आतंकवादी संगठन को साफ करने जा रहे हैं?’

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

US tried to deceive Turkey in Syria, says Erdoğan

नाटो सहयोगी तुर्की के राष्ट्रपति ने कहा, “अगर हम सामरिक साझेदार हैं, तो आपको हमारा सम्मान करना चाहिए और आपको हमारे साथ काम करना चाहिए.” उन्होंने कहा कि अमेरिका ने कुर्द पीपुल्स प्रोटेक्शन यूनिट्स (वाईपीजी) मिलिशिया द्वारा तुर्की के खिलाफ “इस तरह धोखा” किया था, जिसने अफ्रिन क्षेत्र को नियंत्रित किया हुआ था.

एर्दोगान ने अमेरिका पर भड़कते हुए कहा, तुमने हमारे बजाय आतंकियों को हथियार और गोला बारूद दिए. लेकिन एब वे ही हथियार और गोला बारूद हमारे कब्जे में है.