sr

श्रीलंका के कैंडी शहर में बौद्ध-मुस्लिम के बीच हुए तनाव को लेकर देशभर में लगाए गए आपातकाल को हटा दिया गया है. श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाला सिरिसेना ने आपातकाल हटाने के लिए एक राजपत्र अधिसूचना पर हस्ताक्षर कर दिए हैं.

कैंडी में हुई इस सांप्रदायिक हिंसा में दो लोग मारे गए बकि मुस्लिमों के तकरीबन 450 घरों और दुकानों को नुकसान पहुंचाया गया. इस दौरान 60 वाहनों को जलाया भी गया. जिसके बाद देश भर में 6 मार्च को आपातकाल का ऐलान किया गया था. इसके बाद श्रीलंकाई सरकार ने फेसबुक, वाट्सएप और सोशल मीडिया समेत अन्य माध्यमों के इस्तेमाल पर रोक लगा दी थी.

इस मामले में पुलिस अब तक तकरीबन 300 लोगों को गिरफ़्तार कर चुकी है जिसमें हिंसा भड़काने के संदिग्ध एक कट्टर बौद्ध संगठन के नेता भी शामिल हैं. राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरीसेना ने ट्वीट कर बताया कि लोगों की सुरक्षा का आकलन करने के बाद उन्होंने बीती आधी रात से आपातकाल हटाने का निर्देश दिया है.

जला घर

बता दें कि देश में सरकार और तमिल टाइगर विद्रोहियों के बीच 30 वर्षों के संघर्ष के 2009 में खत्म होने के बाद देश में पहली बार आपातकाल लगाया गया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?