सऊदी क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान की बहन के खिलाफ सशस्त्र हिंसा की जांच के संबंध में फ्रांस की एक अदालत ने गिरफ्तारी वारंट जारी किया है।

पिछले साल के अंत में एक फ्रांसीसी जज ने राजकुमारी हस्सा बिंत सलमान के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया था, ये वारंट उनके अंगरक्षक द्वारा पेरिस के फ्लैट में एक कार्यकर्ता पर कथित तौर पर हमला करने को लेकर था। आरोपों में सशस्त्र हिंसा, अपहरण, चोरी और मौत की धमकी शामिल हैं।

ये वारंट ऐसे समय में जारी हुआ है जबकी अगले महीने सऊदी क्राउन प्रिंस बिन सलमान की पेरिस की यात्रा होनी है. ऐसे में फ्रेंच-सऊदी संबंधों में ये वारंट मुश्किलें पैदा कर सकता है।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

बता दें कि शाह सलमान की इकलोती बेटी ने पेरिस के प्रमुख अभियोजक के आदेश पर पुलिस हिरासत से रिहा किए जाने के एक दिन बाद पेरिस छोड़ दिया था। पेरिस की अपील अदालत ने पिछले साल गंभीर रूप से अभियोजक के हस्तक्षेप की आलोचना की, जिसमें उसने कहा था कि फ्रांसीसी कानून से ऊपर राजकुमारी को रखा था।

कर्मचारी का आरोप है कि राजकुमारी ने अपने अंगरक्षक को मुझे मारने का आदेश दिया। उसने मेरे चेहरे पर मुक्का मारा। मेरे हाथ बंधे थे और तब राजकुमारी के पैर चूमने के लिए मजबूर किया गया।