oic

म्यांमार सेना की और से सताए गए रोहिंग्या मुस्लिमों को लेकर इस्लामी सहयोग संगठन (OIC) बड़ा अभियान शुरू करने जा रहा है. जिसकी घोषणा बांग्लादेश में सदस्य देशों के विदेशमंत्रियों की बैठक में हुई.

बांग्लादेश की राजधानी ढाका में होने वाले इस्लामी सहयोग संगठन ओआईसी की दो दिवसीय बैठक में 53 सदस्य देशो के मंत्रियों और राजदूतों ने भाग लिया जिसमें इस अभियान के लिए कमेटी का गठन भी किया गया.

ओआईसी के महासचिव यूसुफ़ बिन अहमद अलउसैमीन ने इस कार्यवाही को रोहिंग्या मुसलमानों के म्यांमार से पलायन करके बांग्लादेश के शरणार्थी कैंपों में आने के कारण पैदा होने वाले संकट की स्थिति के लिए बहुत महत्वपूर्ण क़रार दिया.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

dar yasin rohingya refugees 5 990x556

उनका कहना है कि कमेटी रोहिंग्या मुसलमानों के विरुद्ध होने वाले मानवाधिकारों के उल्लंघन की समीक्षा के लिए विश्व समुदाय को सक्रिय करने और उनका सहयोग प्राप्त करने के लिए काम करेगी. उनका ये भी कहना है कि यह कार्यवाही बहुत महत्वपूर्ण है जो रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे को हल करने की ओर एक ठोस क़दम होगा.

ज्ञात रहे कि म्यांमार के राख़ीन प्रांत में पिछले वर्ष अगस्त में सेना की हिंसक कार्यवाहियों के आरंभ के कारण रोहिंग्या मुसलमानों पलायन के बाद बांग्लादेश में शरण लेने का क्रम जारी है जबकि उक्त पलायन से पहले बांग्लादेश में स्थापित शरणार्थी कैंपों में पहले ही से 3 लाख रोहिंग्या मुसलमान मौजूद हैं.

Loading...