9 11

अमेरिका में होने वाले आतंकी हमलों को लेकर यहूदियों के मानहानि निरोधक संघ एडीएल ने बड़ा दावा किया है. संगठन का कहना है कि देश में 90 फीसद आतंकी हमलों के पीछे खुद अमेरिकी ही है.

टाइम्स आॅफ इस्राईल की रिपोर्ट के अनुसार ” एडीएल” ने बताया है कि पिछले 16 वर्षों के दौरान अमरीका में होने वाले आतंकवादी आक्रमणों की जांच से पता चलता है कि 90 प्रतिशत हमलों के पीछे अमरीकी नागरिक थे.

इस संघ का कहना है कि इस अध्ययन के बाद, पलायनकर्ताओं और मुसलमान पर्यटकों की ओर से सुरक्षा खतरे के बारे में ट्रम्प सरकार के दावों पर प्रश्न खड़ा हो जाता है.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

trump administration plans on reducing u.s. engagement with united nations

एडीएल के अध्ययन के अनुसार वर्ष 2002 से 2017 के मध्य 98 आतंकवादी हमलों और योजनाओं में लिप्त 127 लोगों में से मात्र 10 प्रतिशत विदेशी नागरिक या गैर कानूनी पलायनकर्ता रहे हैं.

एडीएल ने कहा है कि आतंकवाद, चरमपंथ और सांप्रदायिक हिंसा के खिलाफ युद्ध में अमरीकी सरकार पर बड़ी भारी ज़िम्मेदारी है और वह मुसलमानों या पलायनकर्ताओं पर आरोप लगा कर अपने कर्तव्यों के निर्वाह से भाग नहीं सकती.

याद रहे अमरीका में इस देश के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के नित नये आदेशों के साथ ही इस देश के गृहमंत्रालय ने भी कहा है कि अमरीका में मुसलमानों पर अधिक समय तक नज़र रखी जाए.