return march gaza

गज़ा पट्टी में अपने हक़ को लेकर प्रदर्शन कर रहे फिलिस्तीनियों पर इजराइल के टेंकों द्वारा गोलियां बरसाई गई. जिसमे पांच लोगों की मौत हो गई है और 350 लोग घायल हुए हैं.

दक्षिण गज़ा के ख़ान यूनिस के शहर समेत फ़लस्तीन-इसराइल सीमा से सटे कुल पांच इलाक़ों में प्रदर्शन चल रहा था. ‘ग्रेट मार्च ऑफ़ रिटर्न’ के तहत इसराइल की सीमा के नज़दीक फ़लस्तीनियों ने टेंट लगा दिए.

‘ग्रेट मार्च ऑफ़ रिटर्न’ शुक्रवार 30 मार्च से शुरू हो रहा है. फ़लस्तीनी इस दिन को ‘लैंड डे’ के तौर पर मनाते हैं. साल 1976 में इसी दिन ज़मीन पर कब्ज़े को ले कर चल रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान इसराइली सुरक्षाबलों में छह फ़लस्तीनियों को मार दिया था.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

3 Gazans martyred as ‘Return’ marches gather momentum

इस बारें में हमास का कहना है कि इसराइल एक फ़लस्तीनी किसान को मार कर फ़लस्तीनियों को डराना चाहता है और कहना चाहता है कि वो इन प्रदर्शनों में हिस्सा ना लें.

वहीँ इसराइली सेना का कहना है कि छह जगहों पर “दंगों” की स्थिति थी जिससे निपटने के लिए “दंगा भड़काने वालों को निशाना बना कर” गोलियां चलाई गई थी.