Thursday, October 28, 2021

 

 

 

इंडोनेशिया में बड़े पैमाने पर फ्रांसीसी उत्पादों का बहिष्कार, स्टोर से हटाए गए सामान

- Advertisement -
- Advertisement -

कार्टून विवाद को लेकर मुस्लिमों का गुस्सा झेल रहे फ्रांस को एक और बड़ा झटका लगा है। दुनिया के सबसे बड़े इस्लामिक मुल्क इन्डोनेशिया में बड़े पैमाने पर फ्रांसीसी उत्पादों का बहिष्कार किया जा रहा है। फ्रांसीसी उत्पादों के खिलाफ बहिष्कार में कई स्टोर सीधे शामिल हुए है।

पूर्वी जावा और पश्चिम कालीमंतन प्रांतों में, बासमुला, पसुरुआन शहर में स्थित मुस्लिम समुदाय के स्वामित्व वाली स्टोर श्रृंखला है, जिसने अपने 180 आउटलेटों से गोदामों में स्टोर करने के लिए फ्रांसीसी उत्पादों को हटा दिया।

अनादोलू एजेंसी से बात करते हुए, चेन के एक डिप्टी मैनेजिंग डायरेक्टर, अहमद एद अमीन ने कहा कि जिन फ्रांसीसी उत्पादों को हटाया जा रहा है, उनमें फार्मूला मिल्क, बिस्कुट और कॉस्मेटिक्स शामिल हैं।

अमीन ने कहा, “हमारी दुकान इस्लामिक बोर्डिंग स्कूल समुदाय द्वारा स्थापित की गई थी। हम, अच्छे और सच्चे मुसलमान बनना चाहते हैं।” उन्होने बताया, ग्राहकों ने उनके कदम का समर्थन किया। उनमें से ज्यादातर ने फ्रांसीसी राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रॉन की हालिया टिप्पणी की निंदा की।

वित्तीय नुकसान के बावजूद, अमीन ने कहा कि प्रबंधन अभी भी दुनिया में अन्य मुसलमानों के साथ एकजुटता दिखाने के लिए फ्रांसीसी सामानों का बहिष्कार जारी रखने के लिए दृढ़ था।

वहीं दक्षिण सुलावेसी प्रांत के मकसार शहर में 212 सहकारी समिति की  एक और श्रृंखला भी फ्रांसीसी उत्पादों के खिलाफ अभियान में शामिल हुई है। स्टोर के अध्यक्ष मुहम्मद हिदायत हानिस ने कहा कि बोतलबंद पानी और सौंदर्य प्रसाधन सहित उत्पादों का बहिष्कार किया गया।

हानिस ने अनादोलु एजेंसी को बताया, “हमने एसएमई द्वारा बनाए गए स्थानीय उत्पादों के साथ उन्हें बदल दिया।” उन्होंने कहा, “धर्म के मामलों में, हम सौदेबाजी नहीं कर सकते। मैंने मैक्रॉन की निंदा करते हुए एक प्रदर्शन में भी भाग लिया।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles