दुनिया के तीसरे सबसे बड़े लोकतांत्रिक में EVM छोड़ बैलेट पेपर से कराए गए चुनाव

9:39 am Published by:-Hindi News

दुनिया के तीसरे सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश इंडोनेशिया में बुधवार को संसद के साथ राष्‍ट्रपति व उपराष्‍ट्रपति के लिए मतदान हुआ। देश के इतिहास में पहली बार आम चुनाव के साथ ही राष्‍ट्रपति और उप राष्‍ट्रपति का चुनाव हुआ हैं। इस लिहाज से इंडोनेशिया के इतिहास में यह सबसे बड़ा चुनाव है।

मुस्लिम बहुसंख्‍यक राष्‍ट्र में राष्‍ट्रपति जोको विडोडो का मुकाबला पूर्व सेना प्रमुख प्राबोवो सुबिआंतो से है। भारत और अमेरिका के बाद दुनिया के तीसरे सबसे बड़े लोकतांत्रिक देश में राष्ट्रपति विडोडो ने मुस्लिम धर्मगुरु मारूफ अमीन को रनिंग मेट बनाया है जबकि प्राबोवो ने पूर्व व्यवसायी व जकार्ता के डिप्टी गवर्नर सैंडिआगा सलाउद्दीन उनो के साथ जोड़ी बनाई है।

विडोडो ने आर्थिक स्थिरता और व्यापार के अनुकूल माहौल के महत्व को चुनावी मुद्दा बनाया है, जबकि प्राबोवो ने लोगों की खुशहाली के लिए संरक्षणवाद के नजरिए को अहम माना है। इस बार के चुनाव प्रचार में इंडोनेशिया में धार्मिक मुद्दे ज्यादा हावी रहे। हालांकि चुनावी सर्वेक्षण की मानें तो इस बार भी विडोडो ही बाजी मार सकते हैं।

इस चुनाव में करीब 19 करोड़ 30 लाख मतदाताओं ने अपना रजिस्‍ट्रेशन कर रखा है। देश भर में करीब आठ लाख मतदान केंद्र बनाए गए हैं। इस चुनाव में करीब 2,45,000 उम्‍मीदवार मैदान में हैं। इस चुनाव की सबसे बड़ी खास बात ये रही कि ईवीएम की जगह बैलेट पेपर का इस्तेमाल हुआ है।

इंडोनेशिया में भी ईवीएम पर लंबे समय से बहस जारी थी, जिसके बाद सभी दलों में राजनीतिक सहमति नहीं बन सकी थी और वापस बैलेट पेपर पर लौटना तय हुआ। इंडोनेशिया के एंबेसडर सिद्धार्थो सूर्योदीप्रियो ने इस बात की पुष्टि की।इंडोनेशिया दुनिया का तीसरा सबसे बड़ा लोकतंत्र है, जहां अमेरिका की तरह ही राष्ट्रपति सिस्टम लागू है।

शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें