Sunday, August 1, 2021

 

 

 

UAE, क़तर, ओमान के बाद अब कुवैत में भारतीय राजदूत ने मुस्लिमों के खिलाफ नफरत पर चेताया

- Advertisement -
- Advertisement -

UAE, क़तर, ओमान के बाद अब कुवैत में भारतीय राजदूत ने मुस्लिमों के खिलाफ नफरत फैलाने को लेकर भारतीय हिन्दुओ को चेतावनी दी है। भारतीय प्रवासियों से इस्लामोफोबिक संदेशों को साझा नहीं करने के लिए कहा गया है।

कुवैत में भारतीय दूतावास ने प्रवासियों से नफरत के किसी भी संदेश को अनदेखा करने और एकजुट रहने का आग्रह किया। उन्होने कहा, “इन चुनौतीपूर्ण समय में, यह महत्वपूर्ण है कि हम कोविड -19 के खिलाफ अपनी लड़ाई में केंद्रित और एकजुट रहें, और दुर्भावनापूर्ण इरादों के साथ सोशल मीडिया पर नकली समाचारों से विचलित न हों।”

इससे पहले ओमान में भारतीय दूतावास ने देश में एक साथ महामारी से लड़ने की आवश्यकता के बारे में विस्तार से याद दिलाया। “भारत और ओमान के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को सहिष्णुता और बहुलतावाद के हमारे साझा मूल्यों द्वारा रेखांकित किया गया है। आइए हम सभी इस महत्वपूर्ण मोड़ पर एकता और सामाजिक सद्भाव बनाए रखने के लिए प्रतिबद्ध हैं।”

कतर में भारतीय दूतावास ने कहा कि फर्जी खातों का इस्तेमाल समुदायों के बीच मतभेद पैदा करने के लिए किया गया था। “यह स्पष्ट है कि हमारे समुदाय के भीतर विभाजन पैदा करने के लिए भारत में नकली ताकतों का इस्तेमाल किया जा रहा है, कृपया वास्तविकता को समझें और कलह को दूर करने के लिए इन दुर्भावनापूर्ण प्रयासों से मत भटकें। हमारा ध्यान अभी कोविड 19 पर है।

साथ ही, यूएई में पूर्व भारतीय राजदूत नवदीप सिंह सूरी ने इन लोगों को याद दिलाया कि यूएई में अभद्र भाषा के खिलाफ सख्त कानून हैं। “यह सभी धर्मों के खिलाफ अपमानजनक टिप्पणी पर लागू होता है। भारत से बाहर निकलते हुए नफरत भरा भाषण एक और मामला है। यह भारत-यूएई की दोस्ती से नाखुश लोगों को चारा प्रदान करता है।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles