abu

abu

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने हाल ही में फिलीस्तीन, संयुक्त अरब अमीरात और ओमान की आधिकारिक यात्रा की है. जॉर्डन के रास्ते 10 फरवरी को फिलीस्तीन से शुरू हुई यह यात्रा ओमान में जाकर खत्म हुई.

अपनी संयुक्त अरब अमीरात की यात्रा के दौरान पीएम मोदी ने राजधानी अबू धाबी में एक मंदिर की नींव रखी. इस खबर को मिर्च-मसाला लगाते हुए भारतीय मीडिया ने अबू धाबी के क्राउन प्रिंस से जुड़ी एक फर्जी खबर चलाई. जिस पर अब  संयुक्त अरब अमीरात भड़क चूका है.

दरअसल, भारतीय मीडिया ने क्राउन प्रिंस मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान का वीडियो जारी किया जिसमे दावा किया गया कि उन्होंने अपना संबोधन ‘जय सियाराम’ के साथ शुरू किया. जिसे  संयुक्त अरब अमीरात ने पूरी तरह से खारिज किया है.

खाड़ी देशों के प्रमुख अखबार गल्फ न्यूज ने कहा है कि भारत की मीडिया के एक हिस्से और कुछ समूहों ने राजनीतिक फायदा उठाने के लिहाज से यह दुष्प्रचार किया. इस वीडियो को भारत के कई प्रमुख चैनलों जैसे टाइम्स नाउ, जी न्यूज़ ने दिखाया और सोशल मीडिया पर शेयर किया.

गल्फ न्यूज के अनुसार शेख मोहम्मद बिन जायद कभी भी ऐसे कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए. कार्यक्रम में शामिल जिस व्यक्ति को दिखाया गया है वे यूएई के अखबारों के कॉलमिस्ट और अरब मामलों के जानकार सुल्तान सऊद अल कासमी हैं.

गल्फ न्यूज ने कहा कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि  भारतीय मीडिया शेख मोहम्मद बिन जायेद को नहीं पहचानती है जो कि 2017 में ही गणतंत्र दिवस के मुख्य अतिथि रहे थे और साल 2016 में तो उन्होंने राजकीय अतिथि के रूप में भारत का दौरा किया था.

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?