उत्तरप्रदेश की योगी सरकार द्वारा ताजमहल को राज्य की पर्यटन सूची से बाहर करना दुनिया भर में देश की बदनामी का सबब बन गया है. विदेशी मीडिया का कहना है कि भारत सरकार ने ताजमहल को उसके इस्लामिक इतिहास की वजह से साइड लाइन किया है.

दुनिया भर में इस मामले को लेकर भारत की किरकिरी हो रही है. अलग-अलग देशो के अलग-अलग अखबारों ने अलग-अलग हेडिंग के साथ इस खबर को अपने मुख्य पृष्ठ पर जगह दी है जिसमे साफ़ कहा गया कि इस्लामिक रिश्तों के चलते हिन्दूवादी सरकार ने इस प्यार की निशानी को त्यागा है.

  1. अरब न्यूज़ ने Indian government sidelines Taj Mahal for its Islamic pasके साथ खबर प्रकाशित की है.

taj1

2. वाशिंगटन पोस्ट ने Is India neglecting the Taj Mahal because it was built by Muslims?  के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj5

3. आयरिश टाइम्स ने Taj Mahal’s exclusion from tourist brochure sparks religious row के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj2

4. नेशनल पोस्ट ने Is India neglecting its iconic Taj Mahal because it was built by Muslims? के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj3

5. चीनी अखबार हिन्हुआ ने India’s main opposition party leader mocks BJP gov’t for skipping Taj Mahal in tourism booklet के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj4

6. दी वीकेंड ऑस्ट्रलियन ने Taj Mahal sidelined for being ‘too Muslim’ के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj6

7. आई न्यूज़ ने Taj Mahal excluded from Indian tour brochure as anti-Muslim sentiment rises के शीर्षक के साथ ये खबर प्रकाशित की है.

taj7

मुस्लिम परिवार शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें

Loading...

विदेशों में धूम मचा रहा यह एंड्राइड गेम क्या आपने इनस्टॉल किया ?