Saturday, July 2, 2022

अमेरिकी विरोध के बीच होगा भारत और रूस में S-400 एयर डिफेंस डील का सौदा

- Advertisement -

मॉस्को: रूस के राष्ट्रपति व्लादीमिर पुतिन की मौजूदगी में भारत और रूस अरबों डॉलर के एस-400 मिसाइल के अहम समझौते पर इसी हफ्ते हस्ताक्षर करेंगे। ये वही समझौता है जिसे लेकर अमेरिका भारत पर प्रतिबंध तक लगाने की धमकी दे चुका है।

क्रेमलिन के विदेश नीति के अधिकारी यूरी उशाकोव ने रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के 4-5 अक्टूबर को भारत दौरे की पुष्टि करते हुए कहा कि ‘राष्ट्रपति चार अक्टूबर को भारत के लिए रवाना हो रहे हैं।’ उन्होंने कहा, ‘इस यात्रा की मुख्य विशेषता एस-400 वायु रक्षा प्रणालियों की आपूर्ति के लिए समझौते पर दस्तखत करना होगा। करार पांच अरब डॉलर से ज्यादा का होगा।’

भारत काफी समय से एयर डिफेंस मिसाइल सिस्टम खरीदने की योजना बना रहा है। वहीं, रूस कई महीनों से भारत को एयर डिफेंस सिस्टम बेचने को लेकर बातचीत कर रहा है। इस डील के लिए साल 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूसी राष्ट्रपति के बीच बात हुई थी।

हालांकि अमेरिका ने पिछले महीने ही सहयोगी देशों को रूस के साथ रक्षा संबंधी समझौते ना करने की चेतावनी दी थी। दरअसल, अमेरिकी के काटसा (रूस पर प्रतिबंध वाले कानून) कानून के मुताबिक, रूस के साथ समझौता करने वाले देश पर अमेरिका प्रतिबंध लगा सकता है।

राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने पिछले महीने एक कार्यकारी आदेश जारी कर काटसा के तहत लगने वाले प्रतिबंधों को और मजबूत बना दिया था। इसके बाद ही अमेरिका ने चीनी सेना पर रूस से रक्षा समझौता करने के लिए प्रतिबंध लगाया।अमेरिका ने भारत को भी रूस के साथ रक्षा कारोबार ना करने की चेतावनी दी है।

- Advertisement -

Hot Topics

Related Articles