Thursday, July 29, 2021

 

 

 

दिल्ली हिंसा पर ईरान के सुप्रीम लीडर बोले – मुस्लिमो को मारना बंद करे भारत, वरना मुस्लिम दुनिया में पड़ जाएगा अलग-थलग

- Advertisement -
- Advertisement -

तेहरान : ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्ला अली खोमैनी ने गुरुवार को दिल्ली हिंसा को लेकर स्पष्ट शब्दों में कहा कि भारत मुसलमानों पर हिंसा रोके नहीं तो वह इस्लामिक जगत से अलग-थलग पड़ जाएगा। बता दें कि दिल्ली में भड़की हिंसा में मरने वालों की संख्या बढ़कर 53 हो गई है जबकि 200 से ज्यादा लोग घायल हुए हैं। जिनमे ज़्यादातर मुसलमान है।

गुरुवार को ईरान के सर्वोच्च नेता खमनेई ने ट्वीट किया, ‘भारत में मुस्लिमों के नरसंहार पर दुनियाभर के मुस्लिमों का दिल दुखी है। भारत सरकार को कट्टर हिंदुओं और उनकी पार्टियों को रोकना चाहिए और इस्लामिक देशों की ओर से अलग-थलग होने से बचने के लिए भारत को मुस्लिमों के नरसंहार को रोकना चाहिए।’ खमनेई ने ट्वीट के साथ #IndianMuslimslnDanger का भी इस्तेमाल किया है।

इससे पहले ईरान के विदेश मंत्री जवाद जरीफ ने सोमवार को ट्वीट किया था, “भारतीय मुस्लिमों के खिलाफ संगठित रूप से की गई हिंसा की ईरान भर्त्सना करता है। सदियों से ईरान भारत का मित्र रहा है। हम भारतीय अधिकारियों से आग्रह करते हैं कि वे सभी भारतीयों की सलामती सुनिश्चत करें और निर्रथक हिंसा को फैलने से रोकें। आगे बढ़ने का मार्ग शांतिपूर्ण संवाद और कानून का पालन करने से प्रशस्त होगा।”

इसके अगले दिन, भारत ने ईरानी राजदूत चेगेनी को तलब किया था और उनसे कहा था कि दिल्ली में हुई घटनाओं का जरीफ द्वारा चुनिंदा और पक्षपातपूर्ण उल्लेख किया जाना स्वीकार्य नहीं है। हालांकि इस मामले में पाकिस्तान ईरान के खुलकर समर्थन में आ गया।

पाकिस्तानी विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने ईरान के बयान का स्वागत किया था और कहा था कि भारतीय मुसलमानों की सुरक्षा और उनकी देखरेख पर अपने भाई जरीफ द्वारा जताई गई चिंता को पूरी तरह से साझा करता हूं। भारत गंभीर सांप्रदायिक हिंसा की गिरफ्त में है। वहां जो कुछ हो रहा है, वह पूरे इलाके की शांति व सुरक्षा के लिए ठीक नहीं है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Hot Topics

Related Articles