दुनिया के सबसे पीड़ित अल्पसंख्यक रोहिंग्या समुदाय के नरसंहार के चलते म्यांमार सेना को मिलने वाली रोक पर अंतराष्ट्रीय समुदाय रोका लगा रहा है. इसी बीच भारत ने म्यांमार को सैन्य साजो-सामान देने की तैयारी कर ली है.

एनबीटी की रिपोर्ट के अनुसार, एक भारतीय अधिकारी ने बताया कि म्यांमार नेवी चीफ की भारत यात्रा के दौरान गुरुवार को इस संबंध में चर्चा की गई. दोनों पक्षों के बीच म्यांमार के नौसैनिकों को भारतीय रक्षा संस्थानों में ट्रेनिंग देने को लेकर भी बात हुई.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

दोनों पक्षों के बीच गश्ती नौकाओं की सप्लाई को लेकर बातचीत हुई. ध्यान रहे म्यांमांर के नेवी के कमांडर इन चीफ एडमिरल टिन यूंग सान दो दिवसीय भारत दौरे पर है. गुरूवार को वे बोधगया भी पहुंचें. इस दौरान कमांडर इन चीफ रोहिंग्या मुद्दे पर जवाब देने से बचते हुए नजर आए.

आप को बता दे कि रोहिंग्याओं पर अत्याचार को लेकर सयुंक्त राष्ट्र सहित दुनिया की मह्शाक्तियाँ भी कार्रवाई के लिए एकजुट हो चुकी है. ऑस्ट्रलिया, ब्रिटेन सहित कई देशो ने म्यांमार सेना को दी जाने वाली मदद पर रोक लगा दी है.

ब्रिटेन के प्रधान मंत्री ने घोषणा की है कि सरकार ने म्यांमार की सेना के प्रशिक्षण को रोहिंग्या मुस्लिम शरणार्थी संकट के बीच समाप्त किया जा रहा है. उन्होंने कहा: “उनके खिलाफ सैन्य कार्रवाई रोकना होगा हमने बहुत से कमजोर लोगों को अपने जीवन के लिए पलायन करते देखा है.

Loading...