भारत ने फिलिस्तीन शरणार्थियों के लिए संयुक्त राष्ट्र राहत और निर्माण एजेंसी में $ 2 मिलियन का योगदान दिया है। ये योगदान शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा और सामाजिक सेवाओं सहित अपने मुख्य कार्यक्रमों और सेवाओं के समर्थन में है।

एजेंसी ने इस “उदार योगदान” के लिए “महत्वपूर्ण क्षण” के लिए भारत की प्रशंसा की। भारत की और से ये योगदान ऐसे समय में दिया गया जब कोरोनोवायरस महामारी की वजह से एजेंसी के संचालन पर भारी दबाव है।

फिलिस्तीन में भारत के प्रतिनिधि सुनील कुमार द्वारा संयुक्त राष्ट्र एजेंसी को यह योगदान प्रस्तुत किया गया। भारत ने इस वर्ष UNRWA को कुल $ 5 मिलियन प्रदान किए हैं।

उन्होने कहा, “भारत सरकार की ओर से, मैं UNRWA द्वारा किए गए उल्लेखनीय प्रयासों के लिए ईमानदारी से प्रशंसा व्यक्त करना चाहता हूं।”

कुमार ने आगे कहा, “भारत फिलिस्तीनी शरणार्थियों को महत्वपूर्ण सेवाएं और आवश्यक मानवीय सहायता प्रदान करने में एजेंसी की गतिविधियों का समर्थन करना जारी रखेगा।”

धन का एक बड़ा हिस्सा इस विशेष रूप से कमजोर आबादी को नकदी और खाद्य सहायता को कवर करने के उद्देश्य से है। बता दे कि UNRWA का धन संयुक्त राष्ट्र के सदस्य राज्यों द्वारा किए गए स्वैच्छिक दान से पूरा होता है।