irann

अमेरिकी प्रतिबंधों का सामना कर रहे ईरान को भारत और पाकिस्तान का बड़ा साथ मिला है। भारत और पाकिस्तान ने ईरान के खिलाफ अमेरिकी प्रतिबंधों पर साथ देने से मना कर दिया है।

भारत के वित्तमंत्री ने बल दे कर कहा है कि उनका देश इस्लामी गणतंत्र ईरान के ख़िलाफ़ अमरीका के ग़ैर क़ानूनी प्रतिबंधों का पालन नहीं करेगा। अरुण जेटली ने नई दिल्ली में पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि भारत, ईरान के ख़िलाफ़ अमरीका के प्रतिबंधों का मुक़ाबला करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि नई दिल्ली ने तेहरान के ख़िलाफ़ अमरीका की ओर से लगाई जाने वाली पाबंदियों के प्रभावों को रोकने के लिए सभी आवश्यक उपाय कर लिए हैं।

वहीं दूसरी और पाकिस्तानी विदेश मंत्री ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी ने बार-बार सत्यापन किया कि ईरान ने समझौते की शर्तों का सख्ती से पालन किया है। पाकिस्तान ने शुक्रवार को दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच वार्ता के दौरान ईरानी परमाणु मुद्दे से संबंधित अंतरराष्ट्रीय परमाणु समझौते पर ईरान को अपना समर्थन व्यक्त किया।

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता के मुताबिक दोनों पक्षों ने वार्ता के दौरान सहयोग के सभी क्षेत्रों में द्विपक्षीय संबंधों को बढ़ावा देने की आवश्यकता को रेखांकित किया और द्विपक्षीय राजनीतिक परामर्श और संयुक्त आर्थिक आयोग के अगले दौर की मेजबानी की।

पाकिस्तान विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि 2015 में हस्ताक्षर किए गए संयुक्त व्यापक योजना को एकतरफा रूप से वापस लेने के लिए यू.एस. के निर्णय सहित, अफगानिस्तान की स्थिति और अन्य क्षेत्रीय और वैश्विक मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की गई।

Loading...