जर्मनी में के बार फिर से मस्जिद के अनादर का मामला सामने आया हैं. इस्लामोफ़ोबिया तथा नस्लभेद पर आधारित कार्यवाहियों के तहत पुरे यूरोप सहित जर्मनी भी नहीं बच सका है.

ये हमला राजधानी बर्लिन में एक मस्जिद पर किया गया. हमलावरों ने इस मस्जिद पर हमला करने के बाद मस्जिद में सुअर का मांस फेंका. इस घटना के बाद जर्मनी के मुसलमानों में काफी रोष हैं. इस मस्जिद का संचालन तुर्क मूल के जर्मन शहरी करते हैं.

इस घटना के बाद इस्लामी संगठनों और नागरिक कार्यकर्ताओं ने जर्मन सरकार से मांग की है कि हमलावरों को पकड़ा जाए और उन्हें कड़ी से कड़ी सज़ा दी जाए.

मुस्लिम परिवार में शादीे करने के इच्छुक है तो अभी फोटो देखकर अपना जीवन साथी चुने (फ्री)- क्लिक करें 

मुस्लिम संगठनों के कहना हैं कि हमलावरों ने मस्जिद का अनादर करके मुसलमानों की भावनाओं को आहत किया है. इससे पहले भी इस प्रकार के हमले कई अन्य मस्जिदों में हो चुके हैं.

मस्जिद हमलें की जांच कर रही तुर्की संसदीय कमिटी का कहना हैं कि 2001 से 2014 के बीच 297 मस्जिदों को निशाना बनाया गया हैं. इन हमलों के पीछे रहने वाले आरोपियों को जर्मन पुलिस पकड़ने में भी नाकामयाब रही.

Loading...